Kashmir…

Kashmir…

मैं आज़ाद था जब तक मुझे नहीं डराया था, तुम्हारी धमकियों ने हमारे रिशते की नीव को ठुकराया था, जिससे मज़बूर हो कर मैने कहीं और हाथ बढ़ाया था, ...
Read More
Aazadi?

Aazadi?

क्या आज़ाद हूं मैं? धर्म, जात- पात मै फसा गुलाम हूं मै, क्या आज़ाद हूं मैं? छीन के इज्जत सड़क में फेक दी गई जान हूं मै, क्या आज़ाद हूं मैं? ...
Read More